दांतों को करें समुचित देखभाल ये जीवनभर साथ देंगे

0
17
दातों की जांच करते चिकित्सक
हनुमानगढ़. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से विश्व मुख स्वास्थ्य सप्ताह के तहत आज दंत निदान एवं जांच शिविर तथा मुख स्वास्थ्य जनचेतना रैली का आयोजन किया गया.सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने एएनएम ट्रेनिंग सैण्टर में उपस्थित छात्राओं को बताया कि दांतों का संबंध केवल स्वास्थ्य से ही नहीं, सौन्दर्य व व्यक्तित्व से भी जुड़ा हुआ है.

दांतों को करें समुचित देखभाल ये जीवनभर साथ देंगे

गन्दे व अस्वस्थ दांत आपके खूबसूरत व्यक्तित्व पर धब्बे के समान होते हैं. दर्द युक्त, अस्वस्थ दांतों से आहार ठीक से चबाया नहीं जा सकता है, जिसकी वजह से दांतों का काम आंतों को करना पड़ता है. इससे धीरे-धीरे पाचन शक्ति नष्ट होने लगती है और पेट सम्बंधी अन्य बीमारियां जन्म लेने लगती हैं.अस्वस्थ दांत मुंह में दुर्गन्ध भी पैदा करते हैं.

देशभर की नौकरियों के लिए यहां क्लिक करें-

उन्होंने बताया कि दांतों की देखभाल के लिए दांतों की सफाई पर समुचित ध्यान दें, इससे दांत जीवन भर साथ देंगे। दांतों की सफाई के लिए नियमित रूप से दो बार अच्छी तरह से ब्रश करें। दांतों को इस तरह से साफ-सफाई करें कि दांतों में फंसे हुए अन्न व कण निकल जाएं, जो सांस में दुर्गन्ध पैदा करते हैं. मीठे खाद्य पदार्थ जैसे चॉकलेट, कोल्ड ड्रिंक्स, मैदे वाला खाना, आइसक्रीम, केक, चिप्स, स्नैक्स, जंक फूड आदि मात्रा में ना खाएं.यह सब चीजें दांतों को हानि पहुंचाते हैं.
खाना खाने के बाद पानी से कुल्ला अवश्य कर लें. कुल्ला करते समय अपनी ऊंगली से मसूढ़ों की मालिश करें, इससे रक्त संचार तेज होगा और मसूढ़े सुन्दर व दांत मजबूत होंगे. उन्होंने बताया कि गर्भावस्था के दौरान पूर्ण तथा संतुलित आहार नहीं लेने का सीधा असर गर्भस्थ शिशु के दांतों पर पड़ता है. इसलिए महिला को गर्भावस्था में जरुरी कैल्शियम और अन्य खनिज लेने चाहिए.

जीवन मंत्र की ओर खबरों के लिए यहां क्लिक करें-

डॉ. पवन जैन व डॉ. श्रेया मलिक ने बताया कि दांतों की देखभाल और अच्छे स्वास्थ्य के लिए सोडा, कोला, ठण्डे पेय पदार्थ नहीं पीने चाहिएं. गरम पेय पदार्थ पीने के तुरंत बाद ठण्डा पानी पीने से दांत हिलने लगते हैं, इसलिए गरम पेय पदार्थ पीने के तुरंत बाद ठण्डा न पिएं. दांतों को औजार के रूप में इस्तेमाल न करें. दांत से खींचकर कोई चीज निकालना, धागा तोडना, वायर छीलना आदि से दांत की मजबूती कम होती है तथा दांत जल्दी टूटने का खतरा बना रहता है.
धूम्रपान, मद्यपान, पान, तंबाकू, गुटखा आदि के इस्तेमाल से भी दांतों की मजबूती व सौन्दर्य नष्ट हो जाता है. दांतों की देखभाल के लिए ऐसी चीजों के इस्तेमाल से बचें.कार्यक्रम के पश्चात एएनएम ट्रेनिंग सैण्टर की छात्राओं ने मुख स्वास्थ्य जनचेतना रैली निकालकर लोगों को दांतों की समुचित देखभाल करने के लिए प्रेरित किया. रैली को सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया.
इसके उपरांत कैनाल कॉलोनी स्थित सीएचसी में दंत निदान एवं जांच शिविर लगाया गया.शिविर में डेण्टल हाईजिनिस्ट श्रीमती अंजू ने लोगों के दांतों की जांच की एवं दांतों को साफ रखने के बारे में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि दूसरों के इस्तेमाल किए जाने वाले टूथब्रश का इस्तेमाल न करें. इससे दांतों में संक्रमण हो सकता है. वर्ष में दो बार दांतों का चिकित्सकीय परीक्षण अवश्य करवाना चाहिए ताकि किसी भी प्रकार के रोग संक्रमण का समय पर पता लग सके.
Do the teeth give proper care of these lifespan
अगर आप दंत-मंजन इस्तेमाल करते हैं तो यह सुनिश्चित कर लें कि मंजन नरम व उच्च गुणवत्ता वाला हो. घटिया व खुरदरे दंत मंजन आपके दातों को स्थाई नुकसान पंहुचा सकते है. दांतों के साथ साथ जीभ की सफाई भी नियमित रूप से करनी चाहिए. खाना खाने के बाद गाजर, मूली, ककड़ी, खीरा, अमरुद, सेब आदि खाने से दांत साफ होते हैं तथा दांत सुन्दर व मजबूत भी होते हैं. आज कैम्प में 58 मरीजों के दांतों की जांच की गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here