स्वाइन फ्लू से बचें, अहतियात बरतें

0
57
हनुमानगढ़। प्रदेश में स्वाइन फ्लू को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है और आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग ने आमजन से अहतियात रखने की अपील की गई है। वहीं बचाव एवं रोकथाम के लिए स्वाइन फ्लू पॉजिटिव पाए गए प्रभावित क्षेत्रों में रेपिड एक्शन टीमें भेजकर स्क्रीनिंग करने के निर्देश जारी किए गए हैं। आमजन स्वाइन फ्लू का लक्षण दिखने पर तुरंत जांच करवाएं। जांच एवं दवाओं की व्यवस्था स्वास्थ्य केंद्रों पर सुनिश्चित करने के लिए विभाग ने संबंधित अधिकारियों को पाबंद किया है।
सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि स्वाइन फ्लू की स्क्रीनिंग, दवाओं की उपलब्धता, सेम्पल एकत्रित करने की सुविधा, जांच की व्यवस्था, आईसोलेशन वार्ड की स्थिति, आईसीयू की व्यवस्था, नियंत्रण कक्ष की प्रभावशीलता एवं रेफरल सुविधाओं के बारे में समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। जिला अस्पताल में स्वाइन फ्लू की जांच के लिए नमूने एकत्रित करने की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। एकत्रित नमूनों को जांच के लिए मेडिकल कॉलेजों में भिजवाया जाएगा और तत्काल जांच रिपोर्ट लेने एवं पॉजिटिव पाए जाने पर यथाशीघ्र उपचार किया जाएगा। प्रभावित क्षेत्रों में एएनएम एवं आशा कार्यकर्ताओं के जरिए घर-घर जाकर स्क्रीनिंग की जा रही है। स्वाइन फ्लू पर नियंत्रण, रोकथाम एवं उपचार के लिए की गई व्यवस्थाओं की जिला एवं निदेशालय स्तर से रोजाना मॉनिटरिंग की जा रही है। स्वाइन फ्लू की निगरानी एवं तत्काल आवश्यक कार्रवाई के लिए जिला नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। विभागीय टोल फ्री नंबर 104 से स्वाइन फ्लू के लक्षण, जांच एवं उपचार के विषय में आवश्यक जानकारी ली जा सकती हैं एवं आवश्यक सूचनाएं दी जा सकती हैं।
दवा व जांच की पर्याप्त सुविधा, आमजन रखें सावधानी
डॉ. अरूण कुमार स्वाइन ने बताया कि फ्लू की जांच के लिए जिला अस्पताल में आवश्यक दवाओं के साथ ही मॉस्क एवं पीपीई किट उपलब्ध है। सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर टेमी-फ्लू भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। वहीं जांच को लेकर आवश्यक कदम उठाए गए हैं और जांच में पॉजिटिव पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति के मोबाइल पर एसएमएस द्वारा सूचना दी जाएगी। वहीं आमजन भीड़ वाले क्षेत्र से बचें, जरूरत हो तो मास्क का उपयोग करें, नियमित हाथ धोएं, खांसी-जुखाम होने पर तुरंत जांच करवाएं, आवश्यक दवाएं लें, बुजुर्गों खासकर 60 वर्ष से ऊपर की आयु के, बच्चों खासकर पांच वर्ष तक के एवं गर्भवती महिलाओं का खास ख्याल रखें। इसके अलावा आंख, कान, मुंह आदि पर भी हाथ लगाने एवं खाना खाने से पहले हाथ-मुंह आवश्यक रूप से धो लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here