भारत माला परियोजना के तहत राजस्थान के तीन राष्ट्रीय राजमार्गो के लिए वित्तीय स्वीकृत

0
91
भारत माला परियोजना के तहत राजस्थान के तीन राष्ट्रीय राजमार्गो के लिए वित्तीय स्वीकृत
जयपुर- केन्द्र सरकार ने प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट भारत माला परियोजना के तहत राजस्थान के 553 किलोमीटर लंबे तीन राष्ट्रीय राजमार्गो के लिए करीब तीन हजार करोड़ रूपये की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की है।
सार्वजनिक निर्माण मंत्री श्री युनूस खान और जल संसाधन मंत्री डॉ. रामप्रताप ने बुधवार को नई दिल्ली के परिवहन भवन में केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग तथा जल संसाधन मंत्री श्री नितिन गडकरी से मुलाकात कर राजस्थान में सड़क नेटवर्क और जल संसाधन से जुड़े विषयों पर विस्तार से बैठक की और प्रदेश के लंबित प्रकरणों का यथाशीघ्र समाधान करवा अधिक से अधिक केन्द्रीय मदद दिलवाने का आग्रह किया।
बैठक के बाद सार्वजनिक निर्माण मंत्री श्री युनूस खान ने बताया कि भारत माला परियोजना के तहत राजस्थान में कुल 1900 किलोमीटर हाईवे बनना है। जिनमें से तीन हाईवे के लिए केंद्रीय परिवहन मंत्री ने स्वीकृति जारी कर दी है। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्रें में तीन सड़क परियोजनाओं के लिए निविदा प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है। इनमें सबसे लम्बी गागरिया-साता-बाखासर-गांधव तक 197 किलोमीटर बनेगा। इसकी लागत 1134 करोड़ रूपये आएगी। इस नेशनल हाईवे के लिए पहली बार में ही 789 करोड़ रूपये की वित्तीय स्वीकृति भी मिल चुकी है। यह राष्ट्रीय राजमार्ग 25 के नाम से जाना जाएगा।
उन्होंने बताया कि दूसरी सड़क परियोजनाओं में जैसलमेर जिला मुख्यालय से बाधासर-रामगढ़-तनौटमाता-सरकारी तला तक 914 करोड़ रूपये की लागत से 193 किलोमीटर नेशनल हाइवे 11 के नाम से बनेगा। इसके लिए 590 करोड़ रूपये की वित्ती स्वीकृति बुधवार को मिल गई।
तीसरा राष्ट्रीय राजमार्ग बीकानेर जिले में राजरिया-आवा-मुंगल तक बनेगा। 1300 करोड़ रूपये की लागत वाले इस राजमार्ग की लंबाई 162 किलोमीटर होगी। इस हाईवे के लिए भी 687 करोड़ रूपये की वित्तीय स्वीकृति मिल चुकी है। उन्होंने बताया कि तीनो राष्ट्रीय हाईवे दो लेन और पी.एक्स क्वालिटी वाले होंगे।
दो नए एक्सप्रेस हाइवे बनाने का प्रस्ताव
बैठक के दौरान केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी ने भठिंडा से राजस्थान होते हुए अहमदाबाद और दिल्ली से वाया जयपुर वड़ोदरा तक दो नए एक्सप्रेस हाईवे की सौगात देने का भरोसा भी दिया। यह हाईवे नेशनल हाईवे के अलावा अलग से जमीन अधिग्रहण कर बनाने का प्रस्ताव है।
श्री खान एवं डॉ. राम प्रताप ने केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी को राजस्थान की विशेष परिस्थितियों के मद्देनजर विशेष रूप से केन्द्रीय मदद दिलवाने के लिए राज्य सरकार की ओर से आभार व्यक्त किया साथ ही अनुरोध किया कि प्रदेश के कुछ लंबित प्रकरणों में भी समय पर केन्द्रीय मदद उपलब्ध होती है तो राज्य में उन्हें समयबद्ध ढंग से पूरा करवाने में बहुत मदद मिलेगी और लंबित परियोजनाएं भी निश्चित समयावधि में पूरी हो सकेंगी।
केन्द्रीय मंत्री ने राज्य के दोनों मंत्रियों को केन्द्र सरकार की ओर से हरसंभव मदद दिलवाने का भरोसा दिलवाया। उन्होंने राजस्थान में सड़क विस्तार, नवीनीकरण, मरम्मत व सुद्दढ़ीकरण के कार्य बखूबी ढंग से पूरा करवाने के लिए राज्य सरकार की प्रशंसा की । साथ ही पानी की कमी वाले रेगिस्तान प्रधान राजस्थान में सतही जल व सिंचाई परियोजनाओं को क्रियान्वित करवाने के लिए मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे द्वारा की गई पहल और केन्द्र सरकार को भिजवाए गए प्रस्तावों की सराहना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here