हनुमानगढ- अभ्यर्थी 19 नवम्बर से अपना नामांकन पत्रा प्रस्तुत कर सकेंगे

0
36
अभ्यर्थियों द्वारा नाम निर्देशन पत्रों से संबंधित आदेश जारी
 हनुमानगढ, 2 नवम्बर। विधानसभा आम चुनाव 2018 के दृष्टिगत अभ्यर्थियों द्वारा नाम निर्देशन पत्रों से संबंधित आदेश जारी किए है।
 जिला निर्वाचन अधिकारी  दिनेश चन्द जैन ने बताया कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी के निर्देशानुसार हनुमानगढ़ जिले के समस्त विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव लड़ने के इच्छुक अभ्यर्थी 19 नवम्बर से अपना नामांकन पत्रा प्रस्तुत कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951, निर्वाचनों के संचालन नियम 1961 तथा रिटर्निंग अधिकारियों की पुस्तिका 2014 के अनुसार प्रतिदिन प्राप्त नाम निर्देशन पत्रों की सूची प्रारुप 3 -क  हिन्दी और अंग्रेजी भाषाओं में दोपहर बाद 3 बजे तैयार की जाएगी। जिसे रिटर्निंग अधिकारी एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी के नोटिस बोर्ड पर चस्पा किया जाएगा तथा नाम निर्देशन पत्रों को निर्वाचन विभाग जयपुर को  ई-मेल, फैक्स एवं कैम्पबैग के माध्यम से तत्काल  प्रेषित किया जाएगा।
 जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि  नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा की सूची प्रकाशित होने के बाद अभ्यर्थिता वापस लेने की अन्तिम तिथि तक कोई भी उम्मीदवार अपनी अभ्यर्थिता वापस ले सकता है। संबंधित चुनाव अधिकारी प्रारुप 6 में अपने कार्यालय के नोटिस पर चस्पा करेंगे तथा निर्वाचन विभाग को भिजवाएंगे। उन्होंने बताया कि नाम वापस लेने की अन्तिम तिथि को दोपहर बाद 3 बजे के पश्चात चुनाव चिह्नों के आवंटन के बाद संबंधित चुनाव अधिकारी प्रारूप 7 – ‘क‘ में अपने कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर चस्पा करेंगे तथा सूचना निर्वाचन विभाग को प्रेषित की जाएगी।  चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों की सूची का गजट में प्रकाशन किया जाएगा।  जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि उम्मीदवारों की सूची श्रेणीवार भी होगी और प्रत्येक श्रेणी में हिन्दी वर्णमाला के अनुसार क्रमबद्ध किया जाएगा। उन्होंने विशेष तौर पर उल्लेख किया कि निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थी का नाम व पता वही होना चाहिए जो संबंधित निर्वाचन रिकॉर्ड में दर्ज है।
मतदान दिवस पर मतदान समाप्ति से 48 घंटे पहले और मतगणना के दिन सूखा दिवस घोषित
हनुमानगढ़, 2 नवम्बर। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री दिनेश चन्द जैन ने बताया कि विधानसभा चुनाव 2018 के परिप्रेक्ष्य में संपूर्ण जिले में मतदान समाप्ति से 48 घंटे पूर्व से यानि 5 दिसम्बर 2018 को सायंकाल से 7 दिसम्बर 2018 को मतदान समाप्ति तक और मतगणना दिवस 11  दिसंबर को सम्पूर्ण जिले में सूखा दिवस घोषित किया है। लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 135-ग में प्रावधान के तहत ये आदेश जारी किए गए हैं। आदेश के तहत मतदान समाप्ति होने के लिए नियत समय के साथ समाप्त होने वाली 48 घंटे की अवधि के दौरान उस मतदान क्षेत्र के भीतर किसी होटल, भोजनालय, पाठशाला, दुकान में अथवा किसी अनय लोक या प्राइवेट स्थान में कोई भी स्प्रिटयुक्त, किण्वित या मादक लिकर या वैसी ही प्रकृति का अन्य पदार्थ का न तो विक्रय किया जाएगा और ना ही दिया जाएगा और ना ही वितरित किया जाएगा। इस संदर्भ में भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदान समाप्ति के 48 घंटे पूर्व तथा मतदान दिवस को सूखा दिवस घोषित किया गया है। पुनर्मतदान की स्थिति में भी पुनर्मतदान की घोषणा से मतदान की तिथि को पुनर्मतदान की समाप्ति तक संबंधित मतदान केन्द्र या केन्द्रों के क्षेत्रों में सूखा दिवस घोषित किया गया है।
मतदान प्रोत्साहन को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी ने लॉंच किया ”लोकगीत”
हनुमानगढ़, 2 नवंबर। मतदाता जागरूकता अभियान के अंतर्गत मतदाताओं को मतदान हेतु प्रोत्साहित करने के लिए शुक्रवार को जिला निर्वाचन अधिकारी श्री दिनेश चंद जैन ने तीसरे लोकगीत को लॉंच किया। जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित ”लोकतंत्र की अलख” लोकगीत लॉंचिग कार्यक्रम में जिला निर्वाचन अधिकारी ने बटन दबाकर लोकगीत को लॉंच किया। इस अवसर पर जिला निर्वाचन अधिकारी के अलावा बॉस्केटबॉल की अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी और स्वीप गतिविधियों की जिले की ब्रांड एंबेसडर सुश्री निशा शर्मा, एडीएम श्री प्रभाती लाल जाट, सीईओ जिला परिषद एवं स्वीप प्रभारी श्री नवनीत कुमार, डीआईजी स्टांप श्री भवानी सिंह पंवार, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, वरिष्ठ साहित्यकार डॉ भरत ओला, कार्टूनिस्ट श्री मस्तान सिंह, चित्रकार श्री रामकिशन अडिग, श्री महेन्द्र प्रताप शर्मा, आईईसी कॉर्डिनेटर श्री पदमेश सिहाग उपस्थित थे। इस अवसर पर जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मतदाताओं को मतदान प्रोत्साहन को लेकर स्वीप गतिविधियों के तहत कई तरह की गतिविधियां की जा रही है इसमें लोकगीत भी महत्वपूर्ण कड़ी है। इसी के तहत मतदान की अपील करने वाले इस लोकगीत को लॉच किया गया है। जिसे गायक कलाकार श्री कुमार नरेश ने गाया है और सह गायक हैं वरिष्ठ साहित्यकार डॉ भरत ओला, चित्रकार श्री रामकिशन अडिग और श्री महेन्द्र प्रताप शर्मा। लोकगीत को चित्रकार श्री रामकिशन अडिग ने लिखा है।गौरतलब है कि इससे पहले भी दो लोकगीत जिला निर्वाचन अधिकारी की ओर से लॉंच किए जा चुके हैं। जिसमें एक लोकगीत को एडीएम श्री प्रभाती लाल जाट ने गाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here