टीच वैल कोचिंग का दसवीं और आठवी का रहा शानदार परीक्षा परिणाम

0
224

टीच वैल कोचिंग का दसवीं और आठवी का रहा शानदार परीक्षा परिणाम

95 से अधिक विधार्थियों  की दसवीं कक्षा में प्रथम श्रेणी,आठवी में ए प्लस व ए ग्रेड 

संगरिया.दसवीं और आठवी बोर्ड में कोंचिग संस्थान ने टॉप रिजल्ट देकर एक बार फि र से श्रेष्ठता कायम की है। यह बात मीरा कॉलोनी में स्थित टीच वैल कोचिंग संस्थान के डायेक्टर सतीश गर्ग ने कही। डायेरक्टर सतीश गर्ग ने बताया कि लगातार 15 वर्षो से बोर्ड कक्षाओं का संस्थान के द्वारा श्रेष्ठ परिणाम दिया जा रहा है।

देशभर की नौकरियों की जानकारी के लिए यहां क्लिक करें-

इस बार संस्थान के 95 से अधिक विधार्थियों दसवीं कक्षा में प्रथम श्रेणी प्राप्त की है। वही केशव पुत्र हनुमान प्रसाद मित्तल ने 96.67 प्रतिशत अंक प्राप्त किए है। वही संस्थान की निहारिका बुडानिया ने 95 प्रतिशत, मिनाक्षी ने 93.33 प्रतिशत, मुस्कान ने 92.33, नुपूर ने 91.50, गुनगुन ग्रोवर ने 91.17,नित्यम ने 91.17 व सन्नी ने 90 प्रतिशत अंक प्राप्त किये है।

टीच वैल कोचिंग का दसवीं और आठवी का रहा शानदार परीक्षा परिणाम

संस्थान के विधार्थियों  ने गणित,विज्ञान,अंंग्रेजी व एसएसटी में 100 में से 100 अंक भी प्राप्त किए है। यह संस्थान की उपलब्धि है। डायेक्टर गर्ग ने बताया कि आठवी बोर्ड में 100 प्रतिशत परिणाम में विधार्थियों ने ए प्लस और ए रैंक प्राप्त किए है।
उन्होने बताया कि संस्थान के द्वारा इंगलिश व हिंदी दोनो  मीडियम के लिए 20 जून से दसवीं और आठवी बोर्ड कक्षाओं का तीसरा नया बैच शुरू होने जा रहा है। विशेषज्ञ शिक्षकों के द्वारा मैथ्स, साईंस, इंगलिश व एसएस.टी पर विशेष रूप से फ ोक्स किया जाता है। खास बात है कि विधार्थियों को बैच में रटाने की बजाये समझाने पर ध्यान दिया जाता है। कोंचिग में विधार्थियों पर सतीश सर द्वारा व्यक्तिगत रूप से ध्यान दिया जाता है। विधार्थियों को बोर्ड में शत प्रतिशत अंक लाने के लिए बोर्ड पैटर्न पर बार-बार पेपर्स का अभ्यास करवाया जाता है।

देशभर की खबरों के लिए यहां क्लिक करें-

कोचिंग में विधार्थियों से पूरे साल के लिए एक बार फ ीस ली जाती है और सलेब्स का तीन बार रिवीजन करवाया जाता है। जिससे विधार्थी की प्रत्येक विषय में बोर्ड पैटर्न पर अच्छी तैयारी भी हो जाती है।

टीच वैल कोचिंग का दसवीं और आठवी का रहा शानदार परीक्षा परिणाम

विधार्थी को कक्षा में समझ नही आने पर उनके डाउटस अलग से बताये जाते है। विधार्थियों को कोचिंग में प्रत्येक विषय के कम्प्यूटराईज्ड नोट्स भी दिये जाते है। कोचिंग में अनुभवी स्टॉफ  के द्वारा सही मार्गदर्शन किया जाता है। अव्वल विधार्थियों को रविंद्र सर,गुरविंद्र सर,मोहित सर आदि के द्वारा मिठाई खिलाई गई।

बोर्ड कक्षाओं में 100 में से 100 अंक लाने के दिए जाते है टिप्स

कोचिंग में सतीश सर के द्वारा बोर्ड कक्षाओं में 100 में से 100 अंक लाने के अलग से विधार्थियों को टिप्स भी दिये जाते है। पांचवी,आठवी और दसवी  बोर्ड कक्षाओं में बोर्ड पैटर्न का विधार्थियों को हर प्रकार से अभ्यास करवाया जाता है। अंग्रेजी,हिंदी और पंजाबी भाषाओं की ग्रामर को विशेषज्ञ अध्यापकों द्वारा करवाया जाता है। कई बार विधार्थी पुराने बोर्ड पैटर्न के अनुसार ही तैयारी करते रहते है। क्योकि हर साल बोर्ड का नया पैटर्न होता है। यह सब कोचिंग संस्थान में विधार्थी को पहले ही बता दिया जाता है ।

सभी विषयों की एक साथ कोचिंग से समय की होती है बचत

डायरेक्टर गर्ग ने बताया कि विधार्थियों को अलग-अलग विषयों की कोचिंग के लिए इधर उधर भटकने से समय की बर्बादी होती है। सलेब्स भी मुश्किल से एक बार पूर्ण नही होता है। जिससे विधार्थी की सभी विषयों में अधिकतर परेशानी रहती है और परिणाम स्वरूप ऑल ओवर रिजज्ट भी अच्छा नही रहता । एक ही स्थान पर सभी विषयों का अध्ययन करने से समय की बचत के साथ साथ ऑल ओवर परिणाम बेहतर और अच्छा रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here